जानिए दुनिया में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले खेल फुटबॉल के बारे में कुछ रोचक फैक्ट्स

surprising facts about soccer

फुटबॉल दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल है| इस दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल फुटबॉल को पहले एसोसिएशन फुटबॉल के नाम से जाना जाता था, लेकिन अब फुटबॉल के करोड़ों फैन्स हैं| कुछ देशों में आज भी फुटबॉल को सौकर के नाम से जाना जाता हैं| फुटबॉल दुनिया में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला सबसे लोकप्रिय खेल है |

हम आपको फुटबॉल के बारे में कुछ रोचक बाते बताने जा रहे है-

फुटबॉल की क्लब की स्थापना 24 अक्टूबर 1857 में नथानिएल और मेजर विलियम ने की थी | जिसका नाम शेफील्ड फुटबॉल क्लब है | यह दुनिया का सबसे पुराना सक्रिय फुटबॉल क्लब है|

  1. फुटबॉल खेल की खोज चीन में हुई थी, और चीनीवासी इस खेल को ‘कुजू’ के नाम से जानते थे |
  2. फुटबॉल की सबसे लोकप्रिय फीफा वर्ल्ड कप प्रतियोगिता है जो हर चौथे साल आयोजित किया जाता है|
  3. भारतीय टीम को 1950 में इस वजह से निकाल दिया गया था क्योंकि खिलाडियों के पास जूते नहीं थे |
  4. पाकिस्तान में दुनियाभर की 80% से ज्यादा फुटबॉल बनती हैं। यहां पर हैंडमेड फुटबॉल बनाई जाती हैं।
  5. प्रोफेशनल फुटबॉल की शुरुआत 31 अगस्त, 1895 को हुई थी।
  6. फ्रांस के स्टीफन स्टाइन के नाम एक मैच में सबसे ज्यादा बार गोल करने का रिकॉर्ड दर्ज है उन्होंने दिसंबर 1942 में रेसिंग क्लब के लिए 16 गोल किये थे|
  7. फुटबॉल के खेल को केवल अमेरिका और कनाडा में सॉकर कहा जाता है। जबकि इसे दूनियाभर में फुटबॉल कहते हैं।
  8. वीडियो साक्ष्य के आधार पर, सबसे तेज़ स्कोर दिसंबर 1998 में, रिकार्डो नेल्सन ओलिविरा (उरुग्वे) में 2.8 सेकंड में था।
  9. 2 मई, 1964 को पेरू में मैच रेफरी के डिसीज़न पर मैदान में दंगा हो गया था, जिस की वजह से करीब 300 लोगों की मौत हो गई थी|
  10. चांद पर क़दम रखने वाले पहले इंसान नील आर्मस्ट्रांग अपने साथ फुटबॉल लेकर जाना चाहते थे, लेकिन NASA ने उनको इसकी अनुमति नहीं दी।
  11. प्रोफेशनल फुटबॉल का साइज बीते 120 सालों से एक जैसा है। फुटबॉल का साइज 28 इंच परिधि वाला और वजन करीब 450 ग्राम है।
  12. अफ्रीका में 1998 में बिजली गिरने से एक टीम के 11 खिलाडियों की मौत हो गई थी, जबकि दूसरी टीम को कुछ नहीं हुआ।
  13. 1930 में पहला विश्वकप खेला गया, जिसका खिताब मेजबान देश उरुग्वे ने अपने नाम किया। इस मैच को लगभग 300 लोगों ने स्टेडियम में बैठ कर देखा।
  14. फुटबॉल टूर्नामेंट का पहला लाइव कवरेज़ टेलीविज़न पर 1937 में दिखाया गया। यह एक तरह का अभ्यास मैच था जो आर्सेनल हाबरी स्टेडियम में खेला गया था।
  15. फुटबॉल के इतिहास में चिली के कार्लोस केजली पहले ऐसे फुटबॉल खिलाडी थे, जिन्हें 1974 के वर्ल्डकप में रेड कार्ड मिला था|
    फुटबॉल के बारे में दिलचस्प बाते
  16. फुटबॉल के वर्ल्डकप को 1 बिलियन यानी 100 करोड़ से भी ज्यादा फैन्स टीवी पर देखते हैं।
  17. 1962 से 1996 तक यूरोपीय और दक्षिण अमेरिकी देशों ने विश्वकप का खिताब कहीं और जाने नहीं दिया।
  18. विश्व युद्ध 2 के समय होने वले बहुत से फुटबॉल मैच को ‘द डेथ मैच’ (The Death Match) का नाम दिया गया था। इसे जर्मनी कंट्रोल करता था|
  19. औसतन एक गेम में एक फुटबॉल प्लेयर 9.3 मील दौड़ता है, जो 15 किलो मीटर के बराबर है।
  20. फुटबॉल खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो मैच के हर मिनट में गोल करने वाले पहले प्लेयर हैं |
  21. 2002 वर्ल्ड कप में ओलिवर कान गोल्डन बॉल जीतने वाले पहले और एकमात्र गोलकीपर हैं।
  22. फुटबॉल के इतिहास में सबसे जल्दी रेड कार्ड मिलने का रिकार्ड ली टोड के नाम है। उन्हें मैच शुरू होने के 2 सेकेंड का भीतर ही रेड कार्ड मिल गया था।
  23. पेले 17 साल की उम्र में फुटबॉल वर्ल्ड कप जीतने वाले सबसे छोटे प्लेयर हैं। वहीं डीन जौफ 40 साल की उम्र में फुटबॉल वर्ल्ड कप जीतने वाले सबसे उम्रदराज प्लेयर हैं।
    पेले
  24. पहले बास्केटबॉल का खेल फुटबॉल से खेल गया था।
  25. 1913 तक गोलकीपर ने अपनी टीम के विभिन्न रंगों के कपड़े नहीं पहनते थे|
  26. यूरोपियन टीम हमेशा 1930 और 1950वें साल को छोड़ कर हर बार फाइनल में पहुंची है।
  27. पराग्वे के मैच में स्पोर्टिवो अमेलियानो और जनरल कैबेलरो के बीच खेले गए एक मैच में कुल 20 लाल कार्ड दिखाए गए।
  28. 1978 में मैनचेस्टर यूनाइटेड मैनेजर सर एलेक्स फर्ग्यूसन को एक महिला के साथ शपथ लेने के लिए निकाल दिया गया था।
  29. महान फुटबॉलर पेले ने फुटबॉल खेल को पहली बार ‘Beautiful Game’ के नाम से नवाजा था|
  30. लुइगी रिवा एक दमदार फुटबॉलर थे जिन्होंने अपने शक्तिशाली शॉट से एक प्रेक्षक का हाथ तोड़ दिया था|

About Social Sach

Get What's Happening Around You That is important for you to know as well. Get Trending and viral news from social media channels.

View all posts by Social Sach →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *