जानिए क्या है पद्मावत फिल्म से जुडा सबसे बड़ा विवाद

0
505
What is So Debatable in Padmavat

मशहूर फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली की अब तक की सबसे ज्यादा विवादों में रही फिल्म पद्मावत आखिरकार गुरुवार को रिलीज़ हो ही गयी | हालाँकि संजय लीला भंसाली के तमाम प्रयासों के बावजूद ये फिल्म पुरे देश में एक साथ रिलीज़ होने में नाकाम रही | ये फिल्म गुरवार को राजस्थान, मध्य प्रदेश, बिहार और गुजरात के अलावा पुरे देश में रिलीज़ हुई |Bhansali's Padmavat Hit Theaters in 25 Jan

राजपूत समाज को क्यों है पद्मावत फिल्म से नाराजगी

दरअसल राजपूत समाज और करणी सेना को पद्मावत फिल्म में रानी पद्मावती के किरदार का जो चित्रण किया गया है उससे जबरदस्त नाराजगी थी और उन्होंने इन राज्यों की सरकारों को आड़े हाथो लेते हुए साफ़ साफ़ कहा था की अगर प्रदेश में पद्मावत की स्क्रीनिंग हुई तो वो फिल्म थिएटर में पद्मावत फिल्म को रिलीज़ नहीं होने देंगे |Why Rajput Have Problem on Padmavat

राजपूत समाज और करणी सेना के अनुसार संजय लीला भंसाली ने फिल्म में रानी पद्मावती के किरदार को गलत तरीके से पेश कर राजपूत समाज की भावनाओ को ठेस पहुंचाई है | उन्होंने रानी पद्मावती के जोहर जो की राजपूत समाज के इतिहास के पन्नो में में साफ साफ लिखा हुआ है उससे छेड़छाड़ करने की कोशिश की है और इसलिए राजपूत समाज नहीं चाहता की समाज में रानी पद्मावती की छवि धुमिल हो |

Sanjay Leela Bhansali's Padmavat

इसके अलावा राजपूत समाज को फिल्म में कथित तौर पर इस्तेमाल किये रानी पद्मावती के सपने वाले दृश्य से भी आपति थी जिसमे वो अलाउद्दीन खिलजी को देखती है | इसके इस फिल्म की पटकथा में पहले रानी पद्मिनी और अलाउद्दीन खिलजी के प्रेम सम्बन्धी दृश्यों से भी आपत्ति थी.

फिल्म का नाम बदला पर नाराजगी जस की तस

हालाँकि संजय लीला भंसाली ने फिल्म का नाम “पद्मावती” जो की पहले रानी पद्मावती के नाम पर था से बदल कर “पद्मावत” राजपूत समाज में भड़की चिंगारी को शांत करने का प्रयास किया लेकिन वो पूरी तरह विफल रहा | “पद्मावत” नाम रखने के पीछे भंसाली की सोच थी की शायद फिल्म का नाम बदल देने से राजपूत समाज फिल्म को केवल रानी पद्मावती से रिलेट नहीं करेगा पर ये सोच तब धराशायी हो गयी जब राजपूत समाज ने अपने विरोध को वापस लेने से साफ़ इंकार कर दिया | उनका कहना था की नाम बदल देने से फिल्म में रानी पद्मावती की गरिमा के साथ इतिहास से जो छेड़छाड़ की गयी है वो नहीं बदलेगी | आपको बताते चले की रानी पद्मावती पर मालिक मोहम्मद जायसी के द्वारा लिखा गया महाकव्य है जो की इतिहास में काफी प्रचलित है और इसमें रानी पद्मावती की अपनी इज्जत को अलाउद्दीन खिलजी से बचाने के लिए की गयी जोहर गाथा का वर्णन है |Deepika's Ghumar Dance in Padmavat

राजपूत समाज का विरोध कब शुरू हुआ

राजपूत समाज के विरोध तब शुरू हुआ था जब संजय लीला भंसाली ने पिछले वर्ष फिल्म पद्मावती की शूटिंग फिल्म के सितारों दीपिका पादुकोण, शाहिद कपूर, और रणबीर सिंह के साथ जयपुर में शुरू की | इस फिल्म के सेट पर ही करणी सेना के कार्यकर्ताओ ने संजय लीला भंसाली को सरे आम थप्पड़ जड़ दिया था और तब ये मामला काफी सुर्खियों में रहा था | आप सभी इस पुरे मामले पर क्या विचार रखते है कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरुर रखे |Shahid Kapoor with Deepika in Padmavat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here