जानिए कैसे आता है साइलेंट हार्ट अटैक

0
762
Why Silent Heart Attach Come Cover Image

आज की इस भागती दौड़ती जिंदगी में किसी के पास व्यायाम के लिए समय नहीं है लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसी जानकारी देने वाले हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक होगी तो चलिए इसके बारे में विस्तारपूर्वक जानते हैं।  आज हम आपको साइलेंट हार्ट अटैक के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे आप खुद का और अपने परिवारजनों का स्वास्थ्य ठीक रख सकते हैं।

पुरुषों में साइलेंट हार्ट अटैक आने की संभावना ज्यादा होती है क्योंकि सांसारिक और परिवारिक दबाव उन पर सबसे ज्यादा होता है।  साइलेंट हार्ट अटैक को साइलेंट मायोकार्डियल इन्फेक्शन भी कहा जाता है इस परिस्थिति में व्यक्ति के सीने में दर्द होता है और उसे यह पता नहीं चलता कि दरअसल हो क्या रहा है। Silent Heart Attach have high possibility in males

कई बार ऐसा एहसास होता है कि आपकी स्पाइनल कॉर्ड में कुछ प्रॉब्लम है और हम लोग यह समझ बैठते हैं कि यह कोई साइकोलॉजिकल कारणों से हो रहा है लेकिन ज्यादा उम्र वाले लोगों और डायबिटीज के पेशेंट में यह साइलेंट अटैक का कारण भी हो सकता है।

आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि हमारा शरीर महीने मन भर पहले से ही हार्ट अटैक की चेतावनी देने लग जाता है लेकिन हम लोग उसे अनदेखा कर देते हैं और यही हमारी सबसे बड़ी गलती भी होती है।  डॉक्टर डिसिल्वा के अनुसार साइलेंट अटैक आपको एक जर्नल हर्ट अटैक के टेस्टों के द्वारा भी पता चल सकता है और आज हम आपको इससे बचाव के तरीके भी बताएंगे।

अगर आपको गैस्ट्रिक प्रॉब्लम है तो आप यह मान लीजिए कि कभी ना कभी जीवन में आप हर्ट अटैक का सामना जरूर करेंगे।  अगर आप इससे बचाव चाहते हैं तो आपको अपनी गैस्टिक ट्रबल को ठीक रखना पड़ेगा अन्यथा आप बड़ी परेशानी में फंस सकते हैं।

Keep Your heart Healthy With These Ways

अगर आपको बिना वजह सुस्ती का अनुभव होता है तो यह लो बीपी की शिकायत हो

सकती है और हर्ट अटैक में लो बीपी का एक अहम योगदान होता है इसीलिए आप अपने रक्तचाप को न्यूनतम स्तरों पर ही रखें।  इस को कंट्रोल करने के लिए आप को निरंतर व्यायाम एवं अच्छी डाइट लेनी चाहिए।

अगर आपको थोड़ी सी भी मेहनत करने के बाद थकान का अनुभव होता है तो तुरंत ही किसी नजदीकी डॉक्टर को अवश्य दिखाएं।  हो सकता है कि यह कैल्शियम या विटामिन की कमी हो लेकिन आगे चलकर यह आपको हर्ट अटैक का पेशेंट बना सकती है इसीलिए आप किसी भी दुविधा में ना पड़े और तुरंत ही किसी डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें।

 

अगर आपको अचानक ठंडे पसीने आने का अनुभव होता है तो यह मान लीजिए कि आपको कभी ना कभी इन परिस्थितियों में हर्ट अटैक का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि ठंडा पसीना आना BP में गिरावट की निशानी होता है और अगर आपके साथ ऐसा हो रहा है तो यह शुभ संकेत नहीं है।

अगर आपका बार-बार सांस फूलता है तो यह मान लीजिए कि आप को सांस संबंधी कोई रोग है या आपका वजन बहुत ज्यादा है यह भी आपको हर्ट अटैक का मरीज बना सकता है।  इसलिए अपने वजन पर कंट्रोल रखें और किसी सांस संबंधी डॉक्टर को अवश्य दिखाएं।

हम आशा करते हैं यह जानकारी आपके लिए ज्ञानवर्धक सिद्ध हुई होगी लेकिन किसी भी कारण को यह ना समझे कि वह हार्टअटैक ही है एक बार किसी चिकित्सक को अवश्य दिखाएं क्योंकि इंटरनेट पर दी गई जानकारी कभी-कभी घातक भी सिद्ध हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here