जानिए एक जेल के कैदियों ने जेल प्रशासन को कितनी कमाई करके दी

0
448

जब भी किसी कैदी को जेल की लंबी सजा मिलती है तो यह माना जाता है कि वह सरकार पर बोझ बन गया है या सरकार उसको संरक्षण में रखकर सजा दे रही है।  लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसी जानकारी देने वाले हैं जो आपने आज से पहले नहीं सुनी होगी। आज हम आपको बताएंगे कि उम्र कैद में सजा काट रहे कैदी जेल प्रशासन को कितना कमा कर देते हैं।

अब अगर आप बात कमाई के कर रहे हैं तो जेल के अंदर सिर्फ सजा ही नहीं दी जाती इसके अलावा इन कैदियों के द्वारा कार्य भी करवाया जाता है।  जेल विभाग के द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार जेल कैदियों ने करीबन 1 साल में जेल प्रशासन को 4 करोड रुपए का मुनाफा कमा कर दिया।   यह कैदी चंचलगुडा के पेट्रोल पंप पर काम करते थे और इस कमाई से इन्होंने जेल प्रशासन को करीबन 4 करोड़ की राशि अर्जित कर कर दी।

चंचलगुडा के इंडियन ऑयल पेट्रोल पंप पर यह कैदी काम करते हैं और इस पेट्रोल पंप का टर्नओवर करीबन 100 से 120 करोड रुपए से भी ज्यादा है।  यह पेट्रोल पंप तेलंगाना और आंध्र प्रदेश का सबसे ज्यादा पेट्रोल विक्रेता पेट्रोल पंप है।  इस पेट्रोल पंप पर 28000 से 30000 पेट्रोल प्रतिदिन बेचा जाता है और यह भारत का आठवां सबसे ज्यादा पेट्रोल बेचने वाला पेट्रोल पंप है।

अभी बीते सोमवार को इस पेट्रोल पंप को 5 साल पूरे हुए जिस पर कैदियों को इसका पूरा प्रोत्साहन दिया गया।  इस पेट्रोल पंप पर 45 कैदी और 16 अपनी सजा काट चुके कैदी तीन शिफ्ट में काम करते हैं और इन्हें इसके लिए ₹12000 मासिक सैलरी भी दी जाती है।  अधिकारियों ने इन कैदियों का चयन इनके अच्छे व्यवहार की वजह से किया ताकि वह सामान्य जीवन जी सकें और इन्हें सुधरने का मौका भी मिल सके।

अधिकारीयों  का यह कहना है कि अभी तक किसी भी कैदी ने  पेट्रोल पंप से भागने की कोशिश नहीं की है और ग्राहकों के साथ भी इनका व्यवहार काफी अच्छा रहता है।  जेल के कैदियों को प्रतिदिन 110 रुपए रोज दिहाड़ी मिलती है जिसे जेल प्रशासन ने राज्य सरकार को ढाई सौ रूपए प्रतिदिन करने की एक अर्जी भी दी है।

हम आशा करते हैं जानकारी आपको रोचक लगी होगी और आप इसे अपने मित्रों के साथ अवश्य शेयर करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here